आईपीएल स्पेशल: किस सीजन में कौनसे खिलाड़ियों ने पर्पल और ऑरेंज कैप पर किया कब्जा

0
163

मुंबई: इंडियन प्रीमियर लीग का आगाज मुंबई के वानखेड़े स्टेडियम में 29 मार्च से खेला जाएगा। ओपनिंग मैच मुंबई इंडियंस और चेन्नई सुपर किंग्स के बीच खेला जाएगा। 2008 से शुरू हुए इस टूर्नामेंट की लोकप्रियता साल-दर-साल बढ़ती जा रही है। हर साल आईपीएल का स्तर और खिलाड़ियों के परफॉर्मेंस में भी इजाफा हुआ है। आईपीएल में अबतक मुंबई इंडियंस ने चार (2013, 2015, 2017, 2019), चेन्नई सुपर किंग्स ने तीन (2010, 2011, 2018), कोलकाता नाइट राइडर्स ने दो (2012, 2014 ), राजस्थान रॉयल्स ने एक बार (2008) और सनराइजर्स हैदराबाद ने भी एक बार (2016) खिताब पर अपना कब्जा जमाया है। रॉयल चैलेंजर्स बैंगलोर, किंग्स इलेवन पंजाब और दिल्ली कैपिटल्स ऐसी टीमें हैं, जो एक बार भी आईपीएल का खिताब नहीं जीत पाई हैं।

आईपीएल में हर साल सबसे ज्यादा विकेट लेने वाले खिलाड़ी को पर्पल कैप और सबसे ज्यादा रन बनाने वाले खिलाड़ी को ऑरेंज कैप दी जाती है। आइए जानते हैं 2008 से लेकर 2019 तक किस खिलाड़ी ने किस सीजन में पर्पल और ऑरेंज कैप पर अपना कब्जा जमाया है।

पर्पल कैप 2008, सोहेल तनवीर : आईपीएल के पहले सीजन में सोहेल तनवीर पर्पल कैप जीतने वाले पहले गेंदबाज बने। उन्होंने राजस्थान रॉयल्स की तरफ से खेलते हुए 12.09 की औसत से 22 विकेट लिए। उन्होंने केवल 11 मैच खेले। उन्होंने मुंबई इंडियंस के खिलाफ 14 रन देकर 4 और रॉयल चैलेंजर्स के खिलाफ 10 रन देकर 3 विकेट लिए।

ऑरेंज कैप 2008, शॉन मार्श (किंग्स इलेवन पंजाब) : ऑस्ट्रेलिया के ज्यॉफ मार्श के बेटे शॉन पहले सीजन में ही ऑरेंज कैप जीतने वाले खिलाड़ी बने। उन्होंने 11 मैचों में 68.44 की औसत से 616 रन बनाए। उनका स्ट्राइक रेट 140 का रहा। पहले संस्करण में ही उन्होंने यह साबित कर दिया कि वह किस स्तर के बल्लेबाज हैं।

पर्पल कैप 2009, आरपी सिंह : डेक्कन चार्जर्स के विजेता बनने के साथ आरपी सिंह ने इस सीजन में 18.13 की औसत से 23 विकेट लिए। इस सीजन में वह सबसे शानदार साबित हुए।

ऑरेंज कैप 2009, मैथ्यू हेडन (चेन्नई सुपर किंग्स) 572 रनः यह सीजन ऑस्ट्रेलियन ओपनर मैथ्यू हेडन के नाम रहा। उन्होंने 12 मैचों में 52 की औसत और 144 की स्ट्राइक रेट से 572 रन बनाए। उन्होंने साबित किया कि क्रिकेट का यह सबसे छोटा फॉर्मेट केवल युवाओं के लिए ही नहीं है।

पर्पल कैप 2010, प्रज्ञान ओझाः तीसरे आईपीएल सीजन में पर्पल कैप जीतने वाले पहले स्पिनर बने प्रज्ञान ओझा। उन्होंने टूर्नामेंट में 16 मैच खेलकर 20.42 की औसत से 21 विकेट लिए।

ऑरेंज कैप 2010, सचिन तेंदुलकर (मुंबई इंडियंस) 618 रनः 2010 के आईपीएल में सचिन तेंदुलकर का बल्ला जमकर बोला। सचिन ने इस संस्करण में 47.53 की औसत और 132.61 की स्ट्राइक रेट से 618 रन बनाकर ऑरेंज कैप जीती। उन्होंने इस सीजन में कुल 86 चौके लगाए।

पर्पल कैप आईपीएल- 2011, लसिथ मलिंगाः इस सीजन में मलिंगा ने कमाल गेंदबाजी की। उन्होंने 8 बार पांच से भी कम रन दिए। उनकी इकोनॉमी 5.95 रही। पहले ही मैच में मलिंगा ने 13 रन देकर 5 विकेट लिए। उन्होंने 13.39 की औसत से 28 विकेट लिए।

ऑरेंज कैप 2011, क्रिस गेल (रॉयल चैलेंजंर्स बैंगलोर), 608 रनः दुनिया के सबसे विध्वंसक बल्लेबाज क्रिस गेल ने इस सीजन में शानदार बल्लेबाजी की। उन्होंने 12 मैचों में 67.55 की औसत से 608 रन बनाए। उनका स्ट्राइक रेट 183.13 रहा। उन्होंने इस सीजन में दो शतक भी लगाए।

पर्पल कैप आईपीएल- 2012 मोर्ने मोर्कलः दक्षिण अफ्रीका के पेसर मोर्ने मोर्कल ने इस सीजन में 16 मैच खेलकर 25 विकेट लिए। उनका औसत 18.12 और इकोनॉमी 7.19 रही।

ऑरेंज कैप 2012, क्रिस गेल (रॉयल चैलेंजंर्स बैंगलोर), 733 रनः 2011 में ऑरेंज कैप हासिल करने के बाद अगले सीजन में भी गेल ने धमाका किया। उन्होंने 61 की औसत से 733 रन बनाए। इसमें 59 छक्के और 46 चौके शामिल थे।

पर्पल कैप आईपीएल- 2013, ड्वेन ब्रावोः मध्यम तेज गति के गेंदबाज ब्रावो ने इस सीजन में 18 मैच खेलकर 32 विकेट लिए। यह आज तक रिकॉर्ड है। उनका औसत 15.53 और इकोनॉमी 11.71 रही।

ऑरेंज कैप 2013, माइकल हसी (चेन्नई सुपर किंग्स), 733 रनः मिस्टर क्रिकेट के नाम से जाने जाने वाले ऑस्ट्रेलिया के माइकल हसी ने इस सीजन में 52 की औसत से शानदार 733 रन बनाकर ऑरेंज कैप जीती। उनका स्ट्राइक रेट 129 रहा। धौनी और सुरेश रैना के टीम में होने के बावजूद वह चेन्नई सुपर किंग्स के लिए मजबूत कड़ी साबित हुए।

पर्पल कैप आईपीएल- 2014, मोहित शर्माः हरियाणा के मोहित शर्मा ने इस सीजन में 16 मैच खेलकर 23 विकेट लिए और पर्पल कैप जीता। वह चेन्नई सुपर किंग्स के लिए मैच विनर साबित हुए।

ऑरेंज कैप 2014, रोबिन उथप्पा(कोलकाता नाइटराइडर्स), 660 रनः कर्नाटक के इस दिग्गज बल्लेबाज ने कुछ सीजन शांति से गुजारने के बाद इस सीजन में शानदार बल्लेबाजी करते हुए 8 बार लगातार 40 से अधिक रन की पारियां खेलीं। उन्होंने 5 अर्द्धशतकों के साथ कुल 660 रन बनाकर केकेआर को कप जितवाने में अहम भूमिका अदा की।

पर्पल कैप आईपीएल- 2015, ड्वेन ब्रावोः एक बार फिर ब्रावो की चेन्नई सुपर किंग्स के लिए शानदार परफॉर्मेंस रही। उन्होंने 16.38 की औसत से 26 विकेट लेकर पर्पल कैप जीता। यह लगातार दूसरा मौका था, जब उन्होंने पर्पल कैप जीता।

2015, डेविड वॉर्नर (सनराइजर्स हैदराबाद), 562 रनः ऑस्ट्रेलिया के इस ओपनर बल्लेबाज ने इस सीजन में हैदराबाद के लिए खेलते हुए 562 रन बनाकर ऑरेंज कैप जीता। 91 उनका अधिकतम स्कोर रहा। उन्होंने सात अर्द्धशतक लगाए और कुछ मैच केवल अपने दम पर जीते।

पर्पल कैप आईपीएल- 2016, भुवनेश्वर कुमारः इस सीजन में भारतीय तेज गेंदबाज भुवनेश्वर कुमार ने 17 मैचों में 23 विकेट लेकर पर्पल कैप जीता। उनकी टीम सनराइजर्स हैदराबाद ने इस साल ट्रॉफी जीती।

ऑरेंज कैप 2016, विराट कोहली (रॉयल चैलेंजर्स बैंगलोर), 973 रनः इस सीजन में विराट कोहली की रनों की भूख कुछ शांत हुई। उन्होंने इस सीजन में 973 रन बनाकर ऑरेंज कैप जीती। ये रन पिछले रिकॉर्ड से 240 ज्यादा थे। कोहली ने 16 मैचों में 4 शतक लगाए। उनका औसत 81.08 और स्ट्राइक रेट 150 रहा।

पर्पल कैप आईपीएल- 2017, भुवनेश्वर कुमारः यह आईपीएल का 10वां सीजन था। इस सीजन में भी भुवनेश्वर ने 14 मैच खेलकर 26 विकेट लिए। भुवनेश्वर को लगातार दूसरे साल पर्पल कैप मिली।

ऑरेंज कैप 2017, डेविड वॉर्नर (सनराइजर्स हैदराबाद), 641 रनः इस सीजन में वॉर्नर ने सबसे अधिक 641रन बनाकर ऑरेंज कैप जीती। जब उनकी पूरी टीम संघर्ष कर रही थी तो केवल वार्नर के बल्ले से ही रन निकले।

पर्पल कैप आईपीएल- 2018, एंड्रयू टाईः ऑस्ट्रेलिया के तेज गेंदबाज एंड्रयू टाई ने इस सीजन में किंग्स इलेवन पंजाब के लिए खेलते हुए 24 विकेट लिए और पर्पल कैप जीता।

ऑरेंज कैप 2018, केन विलियमसन (सनराइजर्स हैदराबाद), 735 रनः न्यूजीलैंड के कप्तान विलियमसन ने इस सीजन में शानदार बल्लेबाजी की। उन्होंने 17 मैचों में 735 रन बनाकर ऑरेंज कैप जीता।

पर्पल कैप आईपीएल- 2019, इमरान ताहिर: आईपीएल के पिछले सीजन में चेन्नई सुपर किंग्स के स्पिनर इमरान ताहिर ने पर्पल कैप पर अपना कब्जा जमाया। इमरान ताहिर ने इस सीजन के 17 मैचों में 26 विकेट हासिल किए थे। आइपीएल 2019 में इमरान ताहिर की इकोनॉमी 6.69 की रही। ताहिर ने चेन्नई के लिए दो बार 4-4 विकेट भी लिए। ताहिर आइपीएल के इतिहास में बतौर स्पिन गेंदबाज आइपीएल के एक सीजन में सबसे ज्यादा विकेट चटकाने वाले गेंदबाज भी बने।

ऑरेंज कैप 2019, डेविड वॉर्नर (सनराइजर्स हैदराबाद), 692 रनः आइपीएल के 12वें सीजन में सबसे ज्यादा रन बनाने के लिए डेविड वॉर्नर को ऑरेंज कैप मिली थी। दक्षिण अफ्रीका में गेंद से छेड़छाड़ मामले में एक साल के बैन के बाद सनराइजर्स हैदराबाद के लिए खेलते हुए डेविड वॉर्नर ने आइपीएल 2019 के 12 मैचों की 12 पारियों में 69.20 के औसत से 692 रन बनाए थे। डेविड वॉर्नर ने पिछले सीजन में एक शतक और 8 अर्धशतकीय पारियां खेलीं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here