बुलंदशहर में मंदिर परिसर में सो रहे दो साधुओं की हत्या

0
102

लखनऊ: यूपी के बुलंदशहर में दो साधुओं की हत्या के मामले की जानकारी मिलते ही मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ सख्त रूख अपना लिया। उन्होंने जिले के सभी बड़े प्रशासनिक अधिकारियों को तुरंत मौके पर पहुंचने के आदेश दिए हैं। सीएम ने मामले के संबंध में स्थानीय अधिकारियों से जानकारी ली और दोषियों को जल्द से जल्द पकड़कर मामले का खुलासे करने का भी आदेश दिया है। मुख्यमंत्री ने कहा कि इस घटना में जो भी दोषी हो उन्हें किसी भी कीमत पर बख्शा नहीं जाए। कड़ी से कड़ी सजा मिले।

ये है पूरा मामला : 

बुलंदशहर के अनूपशहर कोतवाली के गांव पगोना में स्थित शिव मंदिर पर पिछले करीब 10 वर्षों से साधु जगनदास (55 वर्ष) और सेवादास (35 वर्ष) रहते थे। दोनों साधु मंदिर में रहकर पूजा करते थे। सोमवार की देर रात मंदिर परिसर में ही दोनों साधुओं की धारदार हथियारों से प्रहार कर हत्या कर दी गई। मंगलवार सुबह जब ग्रामीण मंदिर में पहुंचे तो उन्हें साधुओं के खून से लथपथ शव पड़े मिले। जानकारी पुलिस को दी जिसके तुरंत बाद सीओ अनूपशहर अतुल चौबे, कोतवाल मिथिलेश उपाध्याय पुलिस बल के साथ मौके पर पहुंच गए। फिलहाल अभी घटना के पीछे कारण का पता नहीं चल सका है। सीओ अतुल चौबे ने बताया कि मामले की जांच की जा रही है। जो भी दोषी होगा उसके खिलाफ सख्त कार्रवाई की जाएगी। फिलहाल ग्रामीणों ने एक युवक पर शक जताया है। पुलिस उसकी तलाश कर रही है।

पालघर में दो साधुओं की पीट-पीटकर हत्या कर दी गई थी
बीते 17 अप्रैल को महाराष्ट्र के पालघर में दो साधु और एक ड्राइवर की करीब 200 लोगों की भीड़ ने पीट-पीटकर हत्या कर दी थी। बताया जाता है कि भीड़ ने इको वैन में बैठे दोनों साधु और उनके ड्राइवर को चोर समझ लिया था और फिर उनकी पीट-पीटकर बेरहमी से हत्या कर दी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here