रक्षाबंधन 2019: 19 साल बाद आया ये संयोग, जानें राखी बांधने का शुभ मुहूर्त

0
439
रक्षाबंधन
रक्षाबंधन

मुंबई: भाई-बहन का सबसे अनमोल त्यौहार राखी है। इस साल भाई बहन के प्यार की डोर पर इस बार भद्रा का साया नहीं होगा। कई संयोग को साथ लेकर आई राखी भाई बहन के प्यार की डोर को मजबूत करने वाली होगी। सावन शुक्ल पूर्णिमा पर इस बार 19 साल बाद पंद्रह अगस्त का संयोग बन रहा है जिससे रक्षा बंधन पर देश प्रेम की भावना भी बढ़ेगी। ज्योतिष विद्वानों का मत है कि कई संयोगों से राखी काफी शुभ संयोग लेकर आ रही है।

19 साल बाद बन रहा है संयोग
ज्योतिष का कहना है कि सावन शुक्ल पूर्णिमा को भाई बहन का पवित्र त्योहार रक्षा बंधन 15 अगस्त को पड़ रहा है। इसके पूर्व वर्ष 2000 में राखी 15 अगस्त को पड़ी थी। गुरुवार को पड़ने वाला त्योहार श्रवणा नक्षत्र में मनाया जाएगा। सबसे बड़ी बात है कि इस तिथि पर भद्रा नहीं है। बहनों को भाई की कलाई पर राखी बांधने के लिए समय का इंतजार नहीं करना पड़ेगा।

भाई बहन का प्यार होगा अखंड
गुरुवार को पूर्णिमा पड़ने से तिथि का महत्व बढ़ जाता है। ज्योतिष विद्वानों का कहना है कि इस उत्तम संयोग में राखी बांधने से ऐश्वर्य तथा सौभाग्य में वृद्धि होती है।

इस शुभ मुहूर्त में बांधें भाई को राखी

राखी बांधने का मुहूर्त: 05:49:59 से 18:01:02 तक

अवधि : 12 घंटे 11 मिनट

रक्षा बंधन का अपराह्न मुहूर्त : 13:44:36 से 16: 22:48 तक

इसलिए मनाया जाता है रक्षाबंधन का त्यौहार

भाई बहन के इस पवित्र त्यौहार को मनाने के पीछे यूँ तो बहुत सी पौराणिक कथाएं प्रचलित हैं। उनमें से कुछ का जिक्र यहाँ हम करने जा रहे हैं।

उदया तिथि की पूर्णिमा
ज्योतिष का मत है कि सावन की पूर्णिमा 14 अगस्त बुधवार की दोपहर 2:47 बजे से शुरू हो जाएगी जो 15 अगस्त दिन गुरुवार को शाम 4:23 बजे तक है। इससे बहनें पूरे दिन भाई को राखी बांध सकेंगी। उदया तिथि की पूर्णिमा 15 अगस्त को होगी, इसीलिए रक्षाबंधन का त्योहार भी इसी दिन मनाया जाएगा। रक्षाबंधन के दिन भद्रा का साया सूर्योदय के पूर्व ही खत्म हो जाएगा।

ज्योतिष के अनुसार रक्षाबधंन 15 अगस्त, गुरुवार को मनाया जाएगा। ऐसा 19 साल बाद हो रहा है। इससे पहले वर्ष 2000 में मंगलवार को इस तरह का योग बना था। इसके बाद वर्ष 2084 में मंगलवार को दोनों पर्व एक साथ मनाए जाएंगे।

ज्योतिषाचार्य रत्नाकर तिवारी

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here