शुरू होने वाले हैं नवरात्रि, इन नियमों का रखें खास ध्यान

0
371

मुंबई: नवरात्र का पर्व है नो देवियों यानि नौ शक्तियों की अराधना का पर्व। नवरात्रि के नौ दिन सभी श्रद्धा भाव से मां के भक्ति में लीन हो जाते हैं। नवरात्रि में नौ दिन तक घरों में मां दुर्गा की अखंड ज्योति की स्थापना की जाती है। नवरात्र के पहले ही दिन कलश स्थापना और ज्वारे बोए जाते हैं। नवरात्रि की पूजा के लिए इन बातों का ध्यान रखें कि कलश स्थापना और अखंड ज्योत को शुभ मुहूर्त देखकर ही स्थापित करें। इसके अलावा नवरात्र के पहले दिन मां को ऋंगार का सामान जरूर चढ़ाएं। नवरात्रि के नौ दिनों में कोशिश करनी चाहिए पूरे दिन मां दुर्गा का स्मरण करें और किसी की निंदा न करें। इसके अलावा नवरात्र के दिनों में इन नियमों का खास ध्यान रखना चाहिए:

नवरात्रि व्रत में इस बात का ध्यान रखना चाहिए कि जो लोग नवरात्रि व्रत रखें वो जमीन पर सोएं।
इसके अलावा नवरात्रि के नौ दिनों तक ब्रह्मचर्य का पालन करना चाहिए।
व्रत करने वाले को फलाहार ही करना चाहिए, इसके अलावा व्रत में खाई जाने वाली चीजें खा सकते हैं।
व्रत के दौरान मां को रोजाना भोग लगाना चाहिए।
इसमें नारियल, नींबू, अनार, केला, मौसमी और कटहल आदि फल और अन्न का भोग लगा सकते हैं।
व्रती को संकल्प लेना चाहिए कि वह हमेशा क्षमा, दया व उदारता का भाव रखेगा।

कलश स्थापना का शुभ मुहूर्त
नवरात्र में मां दुर्गा की कृपा पाने के लिए विधिविधान से कलश पूजन किया जाएगा। ज्योतिषाचार्य के अनुसार प्रतिपदा तिथि 29 सितंबर को सुबह 6:04 मिनट से शुरू होगी, जिसका मान हस्त नक्षत्र में रात 10:01 मिनट तक रहेगा। कलश स्थापना का शुभ मुहूर्त स्थिर लग्न में सुबह 11:36 बजे से दोपहर 12:24 बजे तक रहेगा।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here