गृह मंत्रालय ने कहा, लॉकडाउन के दौरान मकान मालिक न श्रमिकों से किराया मांग सकता है और न करवा सकता है खाली

0
203

नई दिल्ली: कोरोनावायरस के चलते देश में 21 दिनों के लॉकडाउन के बीच हजारों लोग लगातार अपने गृह जिलों की ओर रूख कर रहे हैं। ऐसे में केन्द्र ने लॉकडाउन के नियमों का सख्ती से पालने करने का राज्य सरकारों को निर्देश दिया है। गृह मंत्रालय की तरफ से यह कहा गया कि वे आवश्यक सामानों की आपूर्ति सुनिश्चित करने के साथ ही गरीब और जरूरतमंदों के खाने-पीने और रहने का बंदोबस्त करे। केन्द्र की तरफ से यह कहा गया कि लगातार स्थिति की निगरानी की जा रही है और आवश्यकता पड़ने पर जरूरी कदम भी उसके लिए उठाए जा रहे हैं।

मकान मालिक नहीं मांग सकता किराया

गृह मंत्रालय की तरफ से रविवार को जारी निर्देशों के मुताबिक, लॉकडाउन के अवधि के दौरान किसी भी राज्य या फिर केन्द्र शासित प्रदेश में कोई भी मकान मालिक उनके यहां रह रहे श्रमिकों से किराया नहीं मांग सकते और न ही उन्हें घर खाली करने को मजबूर कर सकते हैं। ऐसे मकान मालिकों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई की जाएगी जो श्रमिकों या फिर छात्रों को जबरदस्ती मकान खाली करने के कहेंगे।

इसके साथ ही, गृह मंत्रालय की तरफ से यह कहा गया है कि राज्य सरकारों को यह निर्देश दिया गया है कि लॉकडाउन की अवधि के दौरान की उनकी मजदूरी को बिना किसी कटौती के समय पर भुगतान सुनिश्चित करे।

दिल्ली सीएम केजरीवाल ने भी मकान मालिकों से अपील

इससे पहले, राजधानी में लॉकडाउन के बीच दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने दिल्ली के मकान मालिकों से अपील की थी कि वे अपने किराएदारों से फौरन किराया देने को मजबूर न करें। केजरीवाल ने कहा कि मकान मालिक चाहें तो वे दो महीने बाद किराया ले सकते हैं या फिर उनसे किश्तों में ले सकते हैं।

केजरीवाल ने कहा कि इस वक्त काफी कठिन समय है, ऐसी स्थिति में हम सभी को मदद करनी चाहिए। उन्होंने कहा कि नाइट शेल्टर्स में खाना बांटने का काम किया है। घर में खान नहीं है तो ऐसे लोग किसी भी नाइट शेल्टर्स में खाना खा सकते हैं। दिल्ली सीएम ने कहा कि रैन बसेरों की संख्या बढ़ाई जा रही है। इसके साथ ही, खाने के डिस्ट्रीब्यूशन की जगहें भी बढ़ाई जा रही है।

पिछले 24 घंटे म ें कोरोना से 25 की मौत

भारत में कोरोना वायरस को लेकर स्वास्थ्य मंत्रालय द्वारा जारी अपडेटेड आंकड़े के मुताबिक, देश में अब तक कोविड-19 के 979 मामले सामने आए हैं, जिनमें 25 लोगों की मौत भी शामिल हैं। स्वास्थ्य मंत्रालय के संयुक्त सचिव लव अग्रवाल ने बताया कि पिछले 24 घंटे में कोरोना के 106 पॉजिटिव मामले सामने आए हैं और 6 मौतों की पुष्टि हुई है। स्वास्थ्य मंत्रालय ने अपने बयान में कहा कि हम ऐसे स्थानों की पहचान कर रहे हैं, जहां मामले तेजी से बढ़ रहे हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here