आवश्यक वस्तुओं के साथ कुछ दूसरे सामान की होगी होम डिलीवरी

0
139

नई दिल्ली: कोरोनावायरस संकट से निपटने के लिए पूरे देश में जारी लॉकडाउन के बीच सरकार ई कॉमर्स कंपनियों को आवश्यक वस्तुओं के साथ कुछ दूसरे सामान की डिलीवरी करने की भी इजाजत दे सकती है। उपभोक्ता मंत्रालय ऐसे आवश्यक सामान की सूची को अंतिम रूप दे रहा है, जिसे लॉकडाउन के बीच ई कॉमर्स कंपनियां उपभोक्ता के घर तक पहुंचा सकती है। फ्लिपकार्ट, अमेजन जैसी कंपनियां आवश्यक वस्तु मसलन, दाल, चावल, आटा, बिस्कुट और किराना को दूसरे जरूरी सामान की आपूर्ति कर रही हैं।

उपभोक्ता मंत्रालय के एक वरिष्ठ अधिकारी ने कहा कि हम लॉकडाउन के बीच लोगों को उनकी जरूरत का सभी सामान पहुंचाना चाहते हैं। अभी तक ई कॉमर्स कंपनियों को आवश्यक वस्तु मसलन, दाल, चावल, आटा, बिस्कुट और किराना को दूसरे जरूरी सामान की आपूर्ति की अनुमति दी गई थी। पर कई दूसरे ऐसे जरूरी सामान हैं, जिनकी आपूर्ति बनाए रखना भी बेहद जरूरी है। बिजली के बल्ब सहित कई सामान ऐसे हैं, जो बेहद जरूरी हैं।

देश में तीस अप्रैल तक लॉकडाउन तय

कई राज्यों के लॉकडाउन बढ़ाने के ऐलान के बाद पूरे देश में तीस अप्रैल तक लॉकडाउन तय है। ऐसे में खाने-पीने की चीजों के साथ दूसरी वस्तुओं की भी जरूरत होगी। गर्मी भी बढ़ रही है, ऐसे में बिजली के पंंखों की आवश्यकता है। लॉकडाउन की वजह से बिजली की दुकान बंद हैं, ऐसे में ई कॉमर्स कंपनियां यह काम कर सकती हैं। सामान की आहिस्ता-आहिस्ता छूट दी जा सकती है, ताकि ई कॉमर्स पर भी दबाव न पड़े।

सामान की कीमतों पर सरकार की नजर

सरकार की कीमतों पर पैनी नजर सरकार ई कॉमर्स कंपनियों के सामान की कीमतों पर भी नजर बनाए हुए है। मंत्रालय के एक वरिष्ठ अधिकारी ने कहा कि कोई ई कॉमर्स कंपनी सामान की औसत से ज्यादा कीमत वसूल करने की कोशिश करेगी, तो शिकायत मिलने पर उसके खिलाफ कार्रवाई होगी। इस बीच, इंंटरनेट एंड मोबाइल एसोसिएशन ऑफ इंडिया ने सरकार से कोरोना वायरस का संक्रमण रोकने के सभी उपायों का पालन करते हुए ई कॉमर्स कंपनियों को पूरी तरह काम करने की इजाजत देने का सुझाव दिया है क्योंकि, इससे बाजार में मांंग बढे़गी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here