एमएस धोनी से 2019 विश्‍व कप के बाद नहीं हुई बात – शास्‍त्री

0
218

नई दिल्‍ली: महेंद्र सिंह धोनी के बारे में एक सवाल बार-बार उठाया जा रहा है कि क्‍या वह दोबारा मैदान पर वापसी करेंगे या फिर अब उनके दिन भर गए हैं? ऐसे कई सवाल लंबे समय से उठ रहे हैं, जिसका अब तक कोई जवाब सामने नहीं आया है। टीम इंडिया के हेड कोच रवि शास्‍त्री से जब 38 वर्षीय के भविष्‍य के बारे में पूछा गया तो उन्‍होंने कहा कि 2019 विश्‍व कप के बाद से उन दोनों के बीच कोई बातचीत नहीं हुई है।

इंग्‍लैंड एंड वेल्‍स में विश्‍व कप के बाद धोनी ने भारतीय आर्मी में अपनी सेवाएं दी। इस दौरान वह वेस्‍टइंडीज दौरे पर नहीं गए और दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ तीन मैचों की टी20 इंटरनेशनल सीरीज में भी हिस्‍सा नहीं लिया। धोनी के बारे में ताजा अपडेट यह है कि वह नवंबर तक अपनी छुट्टियां बढ़ा चुके हैं और इसके मद्देनजर वह बांग्‍लादेश के खिलाफ आगामी सीमित ओवर सीरीज में भी हिस्‍सा नहीं लेंगे।

इस बीच उनके संन्‍यास पर लगातार सवाल उठ रहे हैं, जिसका किसी प्रकार का जवाब सामने नहीं आ रहा है। यह देखना होगा कि वाकई धोनी मैदान पर वापसी करेंगे या फिर अपने चिर-परिचित गुपचुप अंदाज में क्रिकेट से विदाई लेंगे।

शास्‍त्री ने एक इंटरव्‍यू में धोनी को भारत के सर्वकालिक महान क्रिकेटरों में से एक करार दिया। हालांकि, जब उनसे रांची में जन्‍में क्रिकेटर के भविष्‍य के बारे में सवाल किया गया, तो इसका जवाब उनके पास भी नहीं था।

शास्‍त्री ने कहा, ‘धोनी हमारे सर्वश्रेष्‍ठ खिलाडि़यों में से एक रहेंगे। उनका नंबर लिस्‍ट में काफी ऊपर होगा। यह उनका फैसला होगा कि वह वापसी करना चाहते हैं या नहीं। विश्‍व कप के बाद मेरी उनसे मुलाकात नहीं हुई। उन्‍हें पहले खेल शुरू करना होगा और फिर देखेंगे कि चीजें किस तरह हो रही हैं। मुझे नहीं लगता कि विश्‍व कप के बाद उन्‍होंने खेलना शुरू किया है। अगर वह संन्‍यास लेने का मन बनाएंगे तो निश्चित ही चयनकर्ताओं को इसकी जानकारी देंगे।’

धोनी की गैरमौजूदगी में रिषभ पंत को विकेटकीपिंग की जिम्‍मेदारी संभालने का सबसे मजबूत दावेदार माना गया। हालांकि, युवा विकेटकीपर बल्‍लेबाज का प्रदर्शन ज्‍यादा प्रभावी नहीं रहा। अब ऐसी स्थिति आ चुकी है कि भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड (बीसीसीआई) सीमित ओवर क्रिकेट में पंत के विकल्‍प खोजने में जुट गया है।

ऐसी भी सलाह सामने आई कि धोनी अगले साल ऑस्‍ट्रेलिया में होने वाले टी20 विश्‍व कप के दावेदारों में शामिल हैं। भले ही वह क्षतिपूर्ति करने के लिए टीम में लौटे, लेकिन अगर टीम इंडिया बेहतर विकेटकीपर बल्‍लेबाज खोजने में असल रही, तो धोनी उस जगह को कम से कम फटाफट क्रिकेट में भर सकते हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here