सोशल साइट पर देखते थे चाइल्ड पोर्न और फिर हुई इस तरह की पहले कार्रवाई

0
141

मुंबई: दिल्ली पुलिस की साइबर सेल ने सोशल साइट पर चाइल्ड पोर्न से जुड़े वीडियो देखने और उसे शेयर करने वाले पांच लोगों को गिरफ्तार किया है। इस संबंध में अमेरिका की एक स्वयंसेवी संस्था ने नेशनल क्राइम रिकॉर्ड ब्यूरो (एनसीआरबी) को शिकायत दी थी। एनसीआरबी से यह शिकायत दिल्ली पुलिस को मिली। इसके बाद साइबर सेल ने कार्रवाई की। माना जा रहा है कि चाइल्ड पोर्न देखने और उसे शेयर करने पर दिल्ली पुलिस द्वारा गिरफ्तारी का यह पहला मामला है।

गिरफ्तार आरोपियों की उम्र 20 से 30 साल के बीच है। ये मध्यमवर्गीय परिवार से ताल्लुक रखते हैं। इनमें से दो का अपना छोटा कारोबार है, जबकि तीन प्राइवेट नौकरी करते हैं। जानकारी के मुताबिक, अमेरिका की एक स्वयंसेवी संस्था चाइल्ड पोर्नोग्राफी के संबंध में लोगों को जागरूक करने का काम करती है। इस संस्था का गूगल, फेसबुक और यूट्यूब के साथ भी समझौता है। ये कंपनियां इस संस्था को विश्वभर की रिपोर्ट मुहैया कराती हैं।

इतने यूआरएल बंद
फेसबुक 956
यू-ट्यूब 152
ट्विटर 409
इंस्टाग्राम 66
अन्य 782

इतने और बंद होंगे
फेसबुक 1076
यू-ट्यूब 182
ट्विटर 728
इंस्टाग्राम 150

दिल्ली में इस तरह की कार्रवाई का पहला मामला

एनसीआरबी को सूचना मिलने के बाद भारतीय एजेंसियों ने जांच कर ऐसे 70 लोगों को चिन्हित किया। इसकी जानकारी दिल्ली पुलिस सहित अन्य एजेंसियों को भी मुहैया कराई गई थी। इस आधार पर पुलिस ने पांच युवकों को गिरफ्तार कर लिया। आरोपियों में अमित, राजू, नरेंद्र संजू और रेवती नंदन के नाम शामिल हैं। वीडियो में नाबालिग से दुष्कर्म सहित अन्य अश्लील हिंसक सामग्री है। दिल्ली में इस तरह की गिरफ्तारी का यह पहला मामला बताया जा रहा है।

सामग्री ब्लॉक की जा रही साइबर क्राइम प्रीवेंशन अगेंस्ट वुमेन एंड चिल्ड्रेन (सीसीपीडब्ल्यूसी) योजना के तहत चालू किए गए ऑनलाइन पोर्टल के जरिये भी चाइल्ड पोर्न देखने व प्रसारित करने वालों के खिलाफ कार्रवाई की जा रही है। आपत्तिजनक सामग्री मिलने पर वेबसाइट और वीडियो के लिंक, पंजीकृत डोमेन आदि को ई-मेल आईडी के जरिये पुलिस इंटरनेट सर्विस प्रोवाइडर से ब्लॉक करने को कह रही है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here