एसबीआई का बड़ा कदम, इस तरह निकालें कैश, नहीं होंगे एटीएम संबंधी फ्रॉड के शिकार

0
115

मुंबई: भारतीय स्टेट बैंक सरकारी बैंक होने के बाद भी अपने वर्किंग स्टाइल की वजह से बैंकिंग सेक्टर में अलग ही स्थान रखती है। यह न केवल प्राइवेट बैंकों से प्रतिस्पर्धा कर रही है बल्कि बैंकिंग फ्रॉड्स से निपटने के लिए भी लगातार नए कदम उठा रही है। इनमें से एक महत्वपूर्ण कदम है कार्डलैस नकद प्राप्त करने की सुविधा। इन दिनों जिस तरह लोग कार्ड क्लोनिंग की घटनाओं से परेशान है, यह तरीका उनके लिए वरदान है।

क्या है एसबीआई योन : योनो का मतलब है यू ऑनली नीड वन। योनो एक डिजिटल बैंकिंग प्लेटफॉर्म है और ग्राहक नकद निकासी के लिए अपने स्मार्टफोन का प्रयोग कर सकते हैं। इसके जरिये लेनदेन और बिलों का भुगतान भी किया जा सकता है। इसकी सबसे बड़ी विशेषता कार्डलैस नकदी प्राप्त करने की सुविधा है। इस ऐप की मदद से शॉपिंग भी की जा सकती है। अगर आपके पास ऐप नहीं है तो एसबीआई योनो की वेबसाइट से भी आप यह काम कर सकते हैं।

योनो कैश पाइंट : इसके लिए बैंक पहले ही देशभर में 68000 योनो कैश पॉइंट स्थापित कर चुका है और उसकी योजना अगले 18 माह में 10 लाख योनो कैश पाइंट लगाने की है। हालांकि बैंक एटीएम बंद नहीं करेगी लेकिन सुविधा और सुरक्षा की दृष्टि से बेहतर होने ही वजह से यह जल्द ही आम लोगों के लिए पसंदीदा विकल्प बन जाएगा।

कैसे निकाल सकते हैं एसबीआई योनो की मदद से कैश : योनो कैश पाइंट का उपयोग करने के लिए आपको अपने मोबाइल में एसबीआई योनो एप इंस्टॉल करना होगा साथ ही नैट बैंकिंग की भी आवश्यकता होगी। बहरहाल आप एप पर जाएं। अपना नेट बैंकिंग यूजर आईडी और पासवर्ड दर्ज करें तथा लॉगइन पर क्लिक करें।

अब आपको एसबीआई योनो डैशबोर्ड दिखेगा। यहां आप अपने अकाउंट का पूरा ब्योरा देख सकते हैं। इस वेबसाइट के जरिए कार्डलेस कैश निकालने के लिए आपको ‘माई रिवार्ड’ सेक्शन में जाना होगा। इसके अंतर्गत 6 विकल्प दिखाई देंगे। इनमें योनो पे, योनो कैश, बिल पे, प्रोडक्ट्स, शॉप और बुक एंड आर्डर शामिल हैं।

नेट बैंकिंग इस्तेमाल करने वाले ग्राहक न्यूनतम 500 रुपए और अधिकतम 10,000 रुपए एक ट्रांजेक्शन में निकाल सकते हैं। एक दिन में आप योनो एप या वेबसाइट के जरिए योनो कैश पाइंट से अधिकतम 20,000 रुपए निकाल सकते हैं। यहां पर ‘रिक्वेस्ट योनो कैश’ पर क्लिक करें।

‘रिक्वेस्ट योनो कैश’ के माध्यम से आप यह जान सकते हैं कि आपके सेविंग अकाउंट में कितने पैसे जमा है। इसके नीचे आप वह रकम दर्ज करें जिसे योनो कैश पाइंट से निकालना चाहते हैं। फिर ‘नेक्स्ट’ पर क्लिक करें।

एसबीआई की इस सर्विस में दोहरी सत्यापन प्रणाली होती है। इसमें ट्रांजेक्शन के लिए आपको छह अंकों का योनो कैश पिन डालना होगा। पहला, ट्रांजेक्शन के लिए छह अंकों के कैश पिन को वेबसाइट पर जनरेट करना होगा। दूसरा, एसएमएस के जरिए आपके मोबाइल नंबर पर छह अंकों का रेफरेंट नंबर भेजा जाएगा।

आपको योनो कैश पाइंट पर कैश निकालते समय इन दोनों का ही इस्तेमाल करना होगा। एसएमएस के जरिए मिले रेफरेंट नंबर का यदि आपने आधे घंटे में इस्तेमाल नहीं किया तो आप कैश पाइंट से पैसे नहीं निकाल पाएंगे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here